स्पेशल कवरेज

उत्तरी दिल्ली नगर निगम मेडिकल कॉलेज और हिंदू राव अस्पताल में दवाओं के वितरन पर संगोष्ठी

226views

वरिष्ठ संवादाता , परमानंद कुमार

उत्तरी दिल्ली नगर निगम मेडिकल कॉलेज और हिंदू राव अस्पताल में दवाओं के वितरित प्रभाव पर कॉलेज के फार्माकोलॉजी विभाग मैं पैरामेडिकल स्टाफ नर्सों के लिए संगोष्ठी आयोजित की गई इसमें विभाग के प्रोफेसरों ने इस तरह की घटनाओं से होने वाले नुकसान और बचाव पर व्याख्यामाला प्रस्तुत की इसके तहत नर्सिंग स्टाफ को फार्माकोविजिलेंस में उनकी भूमिका से अवगत कराया गया और उन्हें औषधियों के दुष्प्रभाव से संबंधित फार्म भरने की ट्रेनिंग दी गई इसका उद्देश्य औषधीय सुरक्षा और मरीजों को सुरक्षित दवाइयों के लिए जागरूक करना है विभाग के विभागाध्यक्षा डॉ सुनीता सिंह ने बताया कि भारतीय भेषज आयोग राजनगर गाजियाबाद के अंतर्गत हमारा कॉलेज एक आंचलिक केंद्र के तौर पर दवा सतर्कता केंद्र की भूमिका निभा रहा है विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर अनुषा प्रसाद ने फार्माकोविजिलेंस की भूमिका और इसकी आवश्यकता पर अपने विचार प्रस्तुत किए उन्होंने बताया कि इसमें कोई भी लीगल उद्देश्य नहीं है दवाओं के दुष्प्रभाव की रिपोर्टिंग करना हमारा परम कर्तव्य है इसी क्रम में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर यांग सेन लामो फार्माकोविजिलेंस कोऑर्डिनेटर ने फार्माकोविजिलेंस के बारे में विस्तार से बताया और एडीआर रिर्पोटिंग फॉर्म उपभोक्ता फार्म और अस्पताल में होने वाले सामान्य एडीआर पर चर्चा की अंत में कल्पना पुरोहित
फार्माकोविजिलेंस एसोसिएट ने दवाओं की सतर्कता पर चर्चा करते हुए नर्सिंग स्टाफ को एडीआर रिर्पोटिंग फॉर्म भरने की ट्रेनिंग दी और डॉक्टर यांग सेन लामो के साथ मिलकर अभी
तक अस्पताल से प्राप्त एडीआर के केसों पर चर्चा की इस संगोष्ठी में हॉस्पिटल के नर्सिंग स्टाफ ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया अतः इस संगोष्ठी से यह निष्कर्ष निकाला गया है कि एडीआर रिर्पोटिंग करना सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए आवश्यक है इससे हम कई बीमारियों को समय पूर्व ही बढ़ने से रोक सकते हैं

Leave a Response