कारोबारदिल्ली

कैट चुनावों को लेकर दिल्ली में चलाएगा कानाफूसी अभियान व्यापारी हुए वोट बैंक में तब्दील ।

62views

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) की पहल पर पिछले तीन महीने से दिल्ली के व्यापारियों ने आगामी लोकसभा चुनावों में अपनी भूमिका महत्वपूर्ण सुनिश्चित करने के लिए एक बृहद योजना के अंतर्गत दिल्ली के सभी भागों के व्यापारियों को चनाव की दृष्टि से एकजुट करने पर काफी हद तक सफलता पाई है जिसके परिणामस्वरूप दिल्ली के व्यापारी एक मजबूत वोट बैंक के रूप में काफी हद तक तब्दील हो गए हैं और अभी भी यह अभियान लगातार जारी है !

दिल्ली में लगभग 19 लाख व्यापारी हैं जो लगभग 30 लाख लोगों को रोजगार देते हैं और दिल्ली की सभी सातों सीटों पर व्यापारियों का ख़ासा प्रभाव है ! इस अभियान के अंतर्गत व्यापारियों के कर्मचारियों और उनसे जुड़े अन्य लोग जैसे ट्रांसपोर्टर, कूरियर आदि सेवा देने वालों से भी संपर्क किया जा रहा है ! इसके साथ ही व्यापारी जिनसे सामन लेते हैं और जिनको सामन बेचते हैं जिसमें उपभोक्ता भी शामिल हैं के बीच कैट ने एक “कानाफूसी अभियान ” भी चलाने का निश्चय किया है जिसमें बातों ही बातों में व्यापारी उस पार्टी को बेहतर बताएँगे जिसके पक्ष में समर्थन और वोट करने का निर्णय कैट केंद्रीय नेतृत्व शीघ्र करेगा ! इससे दिल्ली भर में उस पार्टी के पक्ष में एक सकारात्मक माहौल तैयार होगा !

दिल्ली की सातों सीटों में चांदनी चौक सीट को मुख्य रूप से व्यापारियों की सीट समझा जाता है क्योंकि इस सीट पर ही दिल्ली के सभी थोक बाज़ारों के साथ साथ प्रमुख रिटेल बाज़ार भी हैं ! इस सीट पर लगभग 19 लाख मतदाताओं में व्यापारियों की संख्या लगभग पांच लाख है जिनमें इनके परिवारों के वोट अलग है ! इस सीट की यह विशेषता है की अधिकाँश व्यापारी इस सीट के अंतर्गत व्यापार भी करते हैं और इसी सीट पर रहते भी हैं ! इस दृष्टि से इस सीट पर होने वाले मतदान में यदि व्यापारी एकजुट होकर एकतरफा मतदान करते हैं तो निश्चित रूप से चुनाव परिणाम बहुत हद तक प्रभावित होंगे ! जहाँ इस संसदीय क्षेत्र में चांदनी चौक, सदर बाजार , कश्मीरी गेट, खारी बावली, नया बाजार , चावड़ी बाजार, अजमेरी गेट, श्रद्धानन्द मार्ग, नई सड़क, जामा मस्जिद जैसे थोक बाजार हैं वहीँ दूसरी तरफ कमला नगर, शक्ति नगर, अशोक विहार, मॉडल टाउन, शालीमार बाग़, पीतमपुरा, त्रि नगर, गुजरावालां टाउन आदि क्षेत्र हैं जहाँ इसी क्षेत्र में व्यापार करने वाले व्यापारी बड़ी संख्यां में रहते हैं !

इसी प्रकार से नई दिल्ली सीट पर कुल लगभग 17 लाख मतदाताओं में से व्यापारियों की संख्यां लगभग 2 लाख है , दक्षिणी दिल्ली सीट पर भी लगभग 19 लाख मतदाताओं में 2 लाख व्यापारी हैं , उत्तर पूर्वी दिल्ली पर लगभग 22 लाख मतदाताओं में 3 लाख व्यापारी हैं, पूर्वी दिल्ली सीट पर कुल मतदाता लगभगग 21 लाख मतदातों में से लगभ्भाग 2 .5 लाख व्यापारी हैं वहीँ पश्चिमी दिल्ली सीट पर कुल 22 लाख मतदातओं में से 2 .75 लॉक व्यापारी हैं जबकि उत्तर पश्चिमी दिल्ली में 23 लाख मतदातओं में से 3 लाख व्यापारी हैं ! इस तरह से प्रत्येक सीट पर व्यापारी मतदाताओं की संख्यां प्रभावी है और यदि सब एकजुट होकर एकतरफ़ा मतदान करते हैं तो चुनाव परिणामों को अवश्य प्रभावित करेंगे !

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की इस बार के चुनावों में दिल्ली के व्यापारियों ने अपना महत्व साबित करने की ठान ली है और व्यापारियों को एक वोट बैंक के रूप में बदलने के लिए कैट दिल्ली की सभी सातों सीटों पर व्यापारी मार्केटों की लगातार मीटिंग कर रहा है ! दिल्ली भर में पिछले …
[5:34 PM, 4/17/2019] Press Aaj Tak Anand: 17 अप्रैल, 2019
व्यापारियों से प्रधानमंत्री मोदी 19 अप्रैल को नई दिल्ली में करेंगे बातचीत
देश एवं दिल्ली के हज़ारो व्यापारी राष्ट्रीय महासम्मेलन में होंगे शामिल

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी आगामी 19 अप्रैल को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में दिल्ली एवं देश के व्यापारियों को सम्बोधित करेंगे ! 19 अप्रैल को हो रहे इस राष्ट्रीय व्यापारी महासम्मेलन में दिल्ली और देश के हजारों व्यापारी शामिल होंगे !

कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा भाजपा ने अपने चुनाव घोषणा पत्र में व्यापारियों के प्रमुख और बुनियादी मुद्दों को शामिल किया है जिसमें मुख्य रूप से एक राष्ट्रीय व्यापारी कल्याण बोर्ड की स्थापना, रिटेल व्यापार के लिए एक राष्ट्रीय नीति बनाना, सभी व्यापारियों को 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन देना, जीएसटी में पंजीकृत सभी व्यापारियों को 10 लाख रुपये का बीमा दुर्घटना , किसान क्रेडिट कार्ड की तर्ज़ पर सभी व्यापारियों को व्यापारी क्रेडिट कार्ड देना आदि शामिल हैं इस हेतु सम्मलेन व्यापारी प्रधानमंत्री का धन्यवाद् करेंगे।

श्री खंडेलवाल ने कहा की भाजपा द्वारा व्यापारियों के बुनियादी और मूल मुद्दों को भाजपा ने अपने चुनाव संकल्प पत्र में पूर्ण मह्तवत्ता देकर शामिल किया है जिसको लेकर दिल्ली सहित देश भर के व्यापारियों में बेहद उत्साह है! जहाँ व्यापारी प्रधानमंत्री का धन्यवाद करेंगे वहीँ प्रधानमंत्री भी देश की अर्थव्यवस्था और विकास में व्यापारी किस प्रकार से और अधिक सहयोग कर सकते हैं उस पर व्यापारियों से बातचीत करेंगे ! उन्होंने कहा की भाजपा के संकल्प पत्र में व्यापार से जुड़े सभी वर्गों का समुचित ध्यान रखा गया है जिसमें विशेष तौर पर एमएसएमई के लिए बिना किसी गारंटी के 50 लाख रुपये तक का क़र्ज़, स्टार्ट अप उद्यमियों एवं अन्य व्यापारियों के लिए देश भर में टेक्नोलॉजी केंद्र की स्थापना जिससे उनकी क्षमताओं का विकास हो सके, सरकारी विभागों द्वारा कम से कम 10% प्रतिशत सामान महिला उद्यमियों से अनिवार्य रूप से खरीदना आदि शामिल हैं ! उन्होंने कहा की निश्चित रूप से भाजपा द्वारा उठाये गए इस कदम से देश में घरेलू व्यापार का विकास तो होगा ही बल्कि छोटे व्यापारियों द्वारा अन्य देशों को सामान निर्यात करने के बेहतर अवसर भी उपलब्ध होंगे !